जोहार की संस्कृति का स्वागत करता हल्द्वानी

जोहार की संस्कृति का स्वागत करता हल्द्वानी

शनिवार, 12 नवम्बर से शुरू होकर और 2 दिनों के लिए जारी रहकर, हल्द्वानी जोहार की संस्कृति का रंग देखेंगे। जोहर सांस्कृतिक और कल्याणकारी समाज ने इस महोत्सव की सभी तैयारियां पूरी कर ली है। महोत्स्व में मुख्य आकर्षण का केंद्र गोविंद बोरा का रोबोट नृत्य होगा, जो मुंबई से राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता है। यह कार्यक्रम जोहारी शौका की संस्कृति, जोहारी भाषा पर एक क्विज़ प्रतियोगिता और धारचूला के कल्याण सोसाइटी की सांस्कृतिक अवस्था को गवाह करने जा रही है। इस महोत्सव में, लोगो को आकर्षित करने वाली अधिक चीजें जैसे जोहार से प्रसिद्ध भोजन और ऊनी कपड़े के स्टाल होंगे। यह आयोजन शिवसुंदरम मैरिज प्लेस, दो नेहरिया में आयोजित किया जायेगा।
अध्यक्ष, देवेंद्र सिंह धर्मशक्तू और महासचिव भूपेंद्र सिंह पांगती ने पत्रकार वार्ता में कहा कि जोहार का महोत्सव हल्द्वानी में 8 साल से आयोजित कीया जा रहा है। इस महोत्सव का मुख्य उद्देश्य जोहारी भाषा के महत्व को फिर से हासिल करना है जो उसके विलोपन के करीब है। उन्होंने आगे कहा, जौहार और राष्ट्रीय कलाकारों के अलावा महोत्सव में, लोक कलाकार भी सांस्कृतिक रंगों को बिखेरतें दिखाई देंगे । इस कार्यक्रम में कुमाऊनी गायक ललित मोहन जोशी भी लोकगीत प्रस्तुत करेंगे। जोहार समिति के सांस्कृतिक सचिव नरेंद्र सिंह तोलिया ने कहा, 2 दिनों के लिए हल्द्वानी को सेवा जगत, ‘आदू मुनस्यार’ का साक्षी होगा।

Haldwani Welcomes Johar’s Culture

Starting on Saturday, 12th November and continuing for 2 days, Haldwani would witness the colors of Johar’s Culture. Johar cultural and welfare society has completed with all the preparations of the event. The chief centre of attraction in the event would be the Robot Dance of Govind Bora, who is a National Award winner from Mumbai. The event is going to witness the culture of Johari Shauka, a quiz competition on Johari language and the cultural staging of Welfare Society of Dharchula. In this event, some more things that will attract the people would be the famous food from Johar and stalls of woolen clothes. The event is organised at The Shivsundara Marriage Place, do neheriya.
The Speaker, Devendra Singh Dharamshaktu and The General Secretary Bhupendra Singh Pangtey in the press conference stated that the event of Johar is being organised since 8 years in Haldwani. The main objective of the event is to regain the importance of the Johari language which is close to its extinction. They further added, in the event, apart from the Johar and National Artists, Folk Artists will also scatter cultural colors. Lalit Mohan Joshi, who is a Kumaoni Singer will also present Folk songs in the event. The Cultural Secretary of Johar Committee, Narendra Singh Toliya said, Haldwani would witness ‘aadu munsyar’ the service world for 2 days.