नैनीताल (Nainital), मनुष्य को प्रदान प्रकृति के वरदानों में से एक सुन्दर उपहार। उत्तराखंड (Uttarakhand) ही नहीं वरन भारत के मुख्य पर्यटन स्थलों में नैनीताल को शुमार किया जाता रहा है। नैनीताल, देश के उत्तरी हिमालयी क्षेत्र उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में स्थित जिला मुख्यालय होने के साथ साथ देश- विदेश से आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहा है। नैनीताल में ही उत्तराखंड का उच्च न्यायालय (High-Court) भी स्थित है।

वर्ष भर यहाँ पर्यटकों की आवाजाही लगी रहती है हर उम्र, वर्ग के लोगों के लिए यहाँ कुछ ना कुछ ऐसा उपलब्ध  है जिसकी मधुर स्मृति उसे यहाँ से वापस लौट कर भी रहती हैं। नैनीताल पहुँचने के लिए आप रेल, बस, टैक्सी, निजी कार जिस भी माध्यम से आपको सुविधा हो, का प्रयोग कर सकते हैं। पंतनगर नजदीकी एअरपोर्ट है (दुरी – लगभग ७० किलोमीटर), काठगोदाम नजदीकी रेलवे स्टेशन (लगभग ३५ किलोमीटर) है। टैक्सियां और बसें नैनीताल के लिए आसानी से मिल जाती हैं और कुछ कुछ समयांतराल पर चलती रहती हैं।

नैनी lake के चारों और बसा है नैनीताल शहर। नैनीताल शहर में आप तीन और से प्रवेश कर सकते हैं – १) हल्द्वानी- काठगोदाम-ज्योलीकोट होते हुए, २) अल्मोड़ा- भवाली होते हुए, व ३) रामनगर-कालाढूंगी- खुर्पाताल होते हुए।

हल्द्वानी या अल्मोड़ा से आते हुए आपको दोनों मार्ग तल्लीताल, नैनीताल बस अड्डे के पास मिलते है जो के ताल के एक सिरे पर स्थित है। अगर आप निजी वाहन से आये है तो तल्लीताल चुंगी नाके (toll gate) पर कर (tax)  दे कर तल्लीताल से ताल के खुबसूरत नज़ारे लेते हुए ताल के किनारे- किनारे ही मल्लीताल के और जायेंगे। अगर आप जिस होटल/ रिसोर्ट पर रुके है वह पार्किंग नहीं  है तो मल्लीताल पर स्थित फ्लैट्स (flatts) की पार्किंग पर parking चार्ज देकर park कर सकते हैं। और निजी वहां से नहीं आये है तो तल्लीताल रिक्शा स्टैंड से रिक्शा कर के मल्लीताल की ओर जा सकते हैं।

नैनीताल के अन्दर मुख्य दर्शनीय स्थल जिन्हें आपने miss नहीं करना चाहिए
> नैना देवी मंदिर (या नयना देवी मंदिर)
> चिड़ियाघर (Zoo)
> नैनी झील
> मॉल रोड
> किलवरी (किलबरी)
> रज्जू मार्ग (रोपवे)
> चाइना पीक (चीनीपीक या नैना पीक के नाम से भी जाना जाता है)
नैनीताल के आस पास पर्यटक स्थल जहाँ आप दिन में जा कर शाम तक वापस नैनीताल लौट सकते हैं।
> भीमताल (३० किमी०)
> सातताल (३२ किमी०)
> नौकुचियाताल (४० किमी०)
> भवाली (१५ किमी०)
> कैची धाम (कैंची मन्दिर या बाबा नीब करौली महाराज आश्रम ) – २५ किमी०
> खुर्पाताल (१० किमी०)
> कालाढूंगी (३० किमी०)
> कॉर्बेट वाटर फाल (३२ किमी०)

नैनीताल के आस पास अन्य प्रसिद्ध पर्यटक स्थल –
> कॉर्बेट / रामनगर – ६० किमी०
> अल्मोड़ा – ७० किमी०
> बिनसर – ८० किमी०
> जागेश्वर – १०५ किमी०
> रानीखेत – ७० किमी०
> कौसानी – १३० किमी०