For a better experience please change your browser to CHROME, FIREFOX, OPERA or Internet Explorer.

दीपावली धनतेरस : धनतेरस के दिन यह उपाय करने से समाप्‍त होता है अकाल मृत्‍यु का भय

धनतेरस पर दीपदान का भी विशेष महत्‍व

धनतेरस का त्योहार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को मनाया जाता है | हर साल यह दीपावली के दिन के 2 दिन पहले मनाया जाता है , मगर  इस वर्ष छोटी दीपावली और धनतेरस का त्योहार एक ही दिन 13 नवम्बर को माना जा रहा है | धनतेरस के दिन लोग खरीदारी करते है और धन के देवता कुबेर भगवान की पूजा करते है | धनतेरस के दिन खरीदारी के अलावा दीपदान का भी विशेष महत्त्व माना जाता है |
धनतेरस के दिन यम दीपदान
धनतेरस के दिन अकाल मृत्यु का भय दूर करने के लिए विशेष पूजा की जाती है | इस दिन यमदीपदान जरुर करना चाहिए |
ऐसा करने से अकाल मृत्यु का भय समाप्त हो जाता है | पुरे वर्ष में एक मात्र यही वह दिन है , जब मृत्यु के देवता यमराज की पूजा सिर्फ दीपदान करने की जाती है | कुछ लोग नरक चतुर्दशी के दिन भी दीपदान करते है |
स्कंद्पुराण में लिखा है ..
कार्तिकस्यासिते पक्षे त्रयोदश्यां निशामुखे ।

यमदीपं बहिर्दद्यादपमृत्युर्विनिश्यति ।।

अर्थात कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी के दिन सायंकाल में घर के बाहर यमदेव के उद्देश्य से दीप से अपमृत्यु का निवारण होता है |


Recent Comments